🇮🇳भारत की मजबूत विदेश नीति 🗣️के कारण दुनिया भर में अलग-थलग पड़ा🇵🇰पाक

 


जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाने और राज्य के पुनर्गठन के फैसले के बाद भारत ने एक बार फिर दिखा दिया है कि अपने आंतरिक मामलों के साथ-साथ पिछले पांच साल में वह दुनिया के मंच पर कितना मजबूत हुआ है। मोदी सरकार की मजबूत विदेश नीति का ही असर है कि पाकिस्तान इस पूरे मामले पर अलग-थलग पड़ गया है।


इस पूरे मामले पर पाकिस्तान दुनिया के हर देश का दरवाजा खटखटा चुका है लेकिन उसे कहीं से उम्मीद मिलती नहीं दिख रही है। भारत की मजबूत विदेश नीति का ही असर है कि मुस्लिम देशों से भी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को कोई मदद नहीं मिल रही है। संयुक्त अरब अमीरात, मालदीव जैसे मुस्लिम देश इस फैसले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़े दिख रहे हैं।वहीं भारत के पड़ोसी श्रीलंका ने भी भारत सरकार के इस फैसले का समर्थन किया है।


भारत की विदेश नीति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कुछ दिन पहले तक भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की बात करने वाला का अमेरिका भी इस मामले पर संयमित बयान दे रहा है। चीन ने भले ही इस मामले में जल्दबाजी में कूदने की कोशिश की लेकिन भारत सरकार की मजबूत प्रक्रिया के बाद चीन भी बैकफुट पर है।