योगी ने मौलिक अधिकार पार्टी से राजनाथ सिंह के खिलाफ किया लखनऊ से नामांकन

लखनऊ लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल करने के लिए जब योगी आदित्यनाथ के हम शक्ल और भेष भूषा में मौलिक अधिकार पार्टी के प्रत्याशी के रूप में सुरेश ठाकुर योद्धा नामांकन करने अपने प्रस्तावकों के साथ कचहरी प्रांगण में दाखिल हुए वहा स्थित सभी की नजरे सुरेश ठाकुर योद्धा पर टीकी रह गई हर शख्स आवाक खड़ा देखता रहा कुछ ने तो सुरेश ठाकुर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही समझ बैठे और रास्ता छोड़ दिया


यही नहीं मीडिया कर्मियों ने तो इन महोदय को इन्टरव्यू के लिए घेर लिया, मीडिया ने सवाल किया कि आप ये भगवा कपड़ा योगी आदित्य की नकल करते हुए पहना है और अपना लुक बना रखा है इस पर सुरेश ठाकुर ने मुस्कराते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ नकलची है उसने बौद्ध चीवर को पहन कर भगवा का नाम दिया है मैं तो विशुद्ध रूप काषाय वस्त्र पहना है बौद्धिस्ट परम्परा की नीशानी है जो सदियों से हमारे रंगो में बह रही है, यये मेरी आस्था है न कि किसी की नकल


आप संसद क्यों जाना चाहते हैं के सवाल पर श्री ठाकुर ने कहा कि मैं संसद में इसलिए जाना चाहता हूं कि इस देश में संविधान का राज कायम हो सके क्योंकि राजनेता मालामाल जनता फटेहाल है जबकि इस देश की मालिक जनता है मतदाता ही असली सरकार है सांसद विधायक मंत्रीगण जनता के प्रतिनिधि है और अधिकारी कर्मचारी जनता के नौकर है अतः राष्ट्रीय आमदनी में से प्रत्येक मतदाताओं को प्रति महीने हिस्सेदारी दिलाने के लिए मैं मौलिक अधिकार पार्टी का सांसद प्रत्याशी संकल्पबद्ध हूँ संसद में पहुँचते ही सबसे पहले मतदाताओं के इस अधिकार का आवाज सदन में पास कराऊंगा


नामांकन का अन्तिम दिन होने के कारण कई प्रत्याशी नामांकन के लिए पहले से ही परिसर में मौजूद थे, भारी सुरक्षा बल जानबूझकर नामांकन कक्ष में जाने रोकने लगे जिसका बिरोध सुरेश ठाकुर ने किया, सुरक्षा कर्मियों से काफी बहस तीखी नोक झोंक के बाद सुरेश ठाकुर नामांकन पत्र दाखिल करने में सफल रहे पर यह दिन मौलिक अधिकार पार्टी के प्रत्याशी योगी आदित्यनाथ के लुक में आये सुरेश ठाकुर की वजह से काफी दिलचस्प रहा