सोशल इंजीनियरिंग छोड़ बुनियाद बचाने में जुटी बसपा*17 सीटों में इस बार सिर्फ एक ब्राह्मण व एक क्षत्रिय प्रत्याशी को ही टिकट दिया

*लखनऊ - सोशल इंजीनियरिंग छोड़ बुनियाद बचाने में जुटी बसपा*
टिकट वितरण में अपनाया ये तरीका*
बसपा ने चार चरण में 39 सीटों के चुनाव में अपने हिस्से में आने वाली 17 संसदीय सीटों के प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं।
आम तौर पर सोशल इंजीनियरिंग पर काम करने वाली बसपा ने इन 17 सीटों में इस बार सिर्फ एक ब्राह्मण व एक क्षत्रिय प्रत्याशी को ही टिकट दिया है।
पिछली बार इन 39 सीटों में बसपा ने छह ब्राह्मण व चार क्षत्रिय प्रत्याशी बनाए थे।
उस लिहाज से भी ब्राह्मण व क्षत्रिय समाज की भागीदारी काफी कम है।
ऐसा लगता है कि सोशल इंजीनियरिंग के जरिये कभी प्रदेश की सत्ता के शिखर को छूने वाली बसपा की चिंता इस समय दूसरों को लामबंद करके वोट का गणित दुरुस्त करने से ज्यादा अपना बेस वोट बचाने की है।
इसीलिए पार्टी सुप्रीमो मायावती ने टिकट वितरण में मुस्लिम व जाटव को तवज्जो दी है।