सरकारी बैंक ने ग्राहकों को किया अलर्ट! फोन कॉल पर खाली हो रहे हैं बैंक खाते

                   देश के तीसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपने ग्राहकों को अलर्ट किया है. बैंक ने बयान जारी कर कहा है कि कुछ ग्राहकों को देना बैंक और विजया बैंक के नाम पर फोन आ रहे हैं और उनसे बैंकों खातों की जानकारी मांग जा रही है. बैंक ऑफ बड़ौदा ने कहा है कि कोई भी बैंक कर्मचारी आपसे आपके खातों से जुड़ी जानकारी नहीं मांग सकता है और मांगेगा भी नहीं. आपको बता दें कि हाल में आई वैश्विक वित्तीय सेवा कंपनी एक्सपीरियन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 24 फीसदी भारतीय ऑनलाइन लेनदेन के दौरान सीधे तौर पर फर्जीवाड़े के शिकार होते हैं.


क्या है मामला- बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि विजया बैंक और देना बैंक के विलय के बाद कुछ लोग बैंक का कर्मचारी बनकर ग्राहकों के फोन, ई-मेल, एसएमएस कर उनके खातों की जानकारियां मांग रहे हैं. ऐसे में निजी जानकारियां फ्रॉड करने वालों के पास पहुंच रही है और उनके खातों से पैसे उड़ाए जा रहे हैं.


देश का तीसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक- दो सरकारी बैंक विजया बैंक (Vijaya Bank) और देना बैंक (Dena Bank) का विलय बैंक ऑफ बड़ौदा में हो गया है. इस विलय के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है. विलय के बाद संयुक्त निकाय का कारोबार 14.82 लाख करोड़ रुपये का हो गया. यह भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और आईसीआईसीआई (ICICI) बैंक के बाद देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया. इस विलय के बाद देश में सरकारी बैंकों की संख्या कम होकर 18 हो गई. विजया बैंक और देना बैंक की सभी शाखाएं बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखाओं के तौर पर काम कर रही हैं.