काशी की धरती से विपक्ष को पीएम का संदेश

काशी की धरती से विपक्ष को संदेश, रोड शो से पहले पीएम मोदी ने कहा हर हर महादेव




वाराणसी' बाबा भोलेनाथ की नगरी एक बार फिर सुर्खियों में हैं, पीएम मोदी यहां से दूसरी बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं इसी क्रम में आज वो एक रोड निकाल रहे हैं, पीएम मोदी 26 अप्रैल को अपना नामांकन भी दाखिल करेंगे।









प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 'रोड शो' (फाइल फोटो) 


 


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी संसदीय सीट से एक बार फिर से मैदान में हैं वैसे बीच में कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी किसी दूसरी संसदीय सीट से इस बार चुनाव लड़ेंगे लेकिन सारे कयासों को दरकिनार करते उन्होंने वाराणसी से ही लड़ने का फैसला किया। पीएम मोदीके कंधों पर वैसे तो तमाम जगहों पर प्रचार का भारी भरकम दारोमदार है और पीएम मोदी ऐसा कर भी रहे हैं उनकी रोज ही कई रैलियां विभिन्न जगहों पर हो रही हैं। 


प्रधानमंत्री मोदी आज अपने वाराणसी के दौरे पर हैं जहां आज वो एक रोड शो (Road Show) कर रहे हैं, जिसके लिए व्यापक तैयारियां की गई हैं। प्रधानमंत्री का रोड शो आज शाम 4 बजे से पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा स्थल से शुरू होगा, जो लंका, अस्सी, सोनारपुरा, मदनपुरा, गोदौलिया से गुजरते हुए दशाश्वमेध घाट पर जाकर खत्म होगा।



उसकी वजह भी है कि पीएम इस दौरे में लोगों से इंटरेक्ट करते हुए चलते हैं और लोग भी उनकी एक झलक पाने को उनसे मिलने को खासी उत्सुक रहती है जिसकी वजह से उनका ये काफिला बेहद धीमे-धीमे चलता है। 


 









 






 पीएम मोदी दशाश्‍वमेध घाट पर मां गंगा का वैदिक रीति से पूजन करने के बाद यहां शाम 7 बजे होने वाली भव्‍य गंगा आरती में शामिल होंगे। पीएम मोदी राजेंद्र प्रसाद घाट पर बनाए गए मंच से लोगों को संबोधित करेंगे। 





 

 



रोड शो में तमाम राजनीतिक हस्तियां शामिल होंगी इनमें निर्मला सीतारमण, नितिन गडकरी, सुषमा स्‍वराज, पीयूष गोयल सहित भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रीगण भी इस शो में शामिल हो सकते है। इनके अलावा हेमा मालिनी, जयाप्रदा, मनोज तिवारी, रविकिशन व दिनेश लाल निरहुआ सहित कई नामी गिरामी चेहरे रहेंगे। आज के रोड शो और 26 अप्रैल को होने वाले नामांकन को देखते हुए वाराणसी में सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच स्तरीय अभेद्य सुरक्षा घेरे में रहेंगे। उनकी सुरक्षा व्यवस्था में एसपीजी, एनएसजी व एटीएस कमांडो, केंद्रीय खुफिया इकाई के अलावा पुलिस, पीएसी और सेंट्रल पैरामिल्रिटी फोर्स के 10 हजार से अधिक जवान तैनात किए गए हैं।