चौकीदार चोर है' वाले बयान पर राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में जताया खेद, अवमानना मामले में दाखिल किया जवाब

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने उस बयान पर खेद जताया है जिसमें उन्होंने कोर्ट के आदेश के बाद यह कहा था कि, 'कोर्ट ने भी अब मान लिया है कि चौकीदार चोर है।


 


नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल फैसले पर बयान को लेकर बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी द्वारा दायर अवमानना ​​याचिका के संबंध में सुप्रीम कोर्ट में अपना जवाब दाखिल किया। अपने जवाब में राहुल गांधी ने कहा था कि उन्होंने चुनाव प्रचार के आवेश में आकर वह बयान दिया था जिसके लिए वह खेद जताते हैं। राहुल ने कहा कि उनका कोर्ट की अवमानना करने का कोई इरादा नहीं था। सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को अब इस मामले की सुनवाई करेगा।


पिछले सोमवार को हुई अवमानना याचिका की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि कोर्ट ने इस तरह का बयान कभी नहीं दिया है और हम इस मसले पर सफाई मांगेंगे।  कोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को निर्देश दिया कि वह 'चौकीदार नरेंद्र मोदी चोर हैं' संबंधी अपनी टिप्पणी को राफेल मामले में अदालत के फैसले से 'गलत तरह से' जोड़ने पर 22 अप्रैल तक स्पष्टीकरण दें। शीर्ष अदालत ने कहा कि वह गांधी के खिलाफ दाखिल आपराधिक अवमानना याचिका पर विचार करेगी।