अल्पेश पर अटकलों के बीच कांग्रेस को डबल झटका, एक दिन में दो विधायकों ने झटके 'हाथ'

अल्पेश को मनाने की पुरजोर कोशिश जारी है। कांग्रेस के बड़े नेता पार्टी आलाकमान से भी उनकी मुलाकात करवा चुके हैं। उनकी हर मांग मानने पर रजामंदी दी जा चुकी है लेकिन अल्पेश का फैसला क्या होगा ये वही जानते हैं।


    नई दिल्ली: आम चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस को गुजरात में बड़ा झटका लग सकता है। 12 मार्च को जिस सूबे में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक होनी है वहां, पार्टी के ओबीसी विधायक अल्पेश ठाकोर के बीजेपी में जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं। कांग्रेस इस झटके से बचने के लिए हरमुमकिन कोशिश में जुटी है। इसी बीच उसे डबल झटका लग गया है। पार्टी के दो मौजूदा विधायकों ने एक ही दिन विधानसभा से इस्तीफा दे दिया।  2019 की जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देने की जुगत में जुटे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात में ही कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक करने वाले हैं लेकिन उससे पहले बीजेपी राहुल को करारा झटका देने की तैयारी में है। गांधीनगर से दिल्ली तक सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म है कि गुजरात में कांग्रेस के ओबीसी चेहरा अल्पेश ठाकोर हाथ का साथ छोड़ कमल का दामन थाम सकते हैं। 



    कांग्रेस ऐसे में अपना घर संभालने में जुटी है लेकिन इसी बीच शुक्रवार को उसे एक ही दिन में दोहरा झटका लग गया। मानवादार सीट से विधायक जवाहर चावड़ा ने तो विधानसभा से इस्तीफा देने के फौरन बाद बीजेपी की सदस्यता भी हासिल कर ली जबकि पुरुषोत्तम साबरिया ने भी स्पीकर राजेंद्र त्रिवेदी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। एक ही दिन दो-दो विधायकों के इस्तीफे से गुजरात कांग्रेस सकते में है। 


     जवाहर चावड़ा खांटी कांग्रेसी रहे हैं लेकिन लोकसभा चुनाव से ठीक पहले चावड़ा का हाथ का साथ छोड़ बीजेपी खेमे में जाना कांग्रेस के लिए किसी सदमे से कम नहीं है। एक ही दिन में दो-दो विधायक खोने के बाद अब कांग्रेस के लिए आज का दिन काफी अहम रहने वाला है क्योंकि माना जा रहा है कि कांग्रेस से नाराज चल रहे अल्पेश ठाकोर भी आज कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। 


    हालांकि, अल्पेश को मनाने की पुरजोर कोशिश जारी है। कांग्रेस के बड़े नेता पार्टी आलाकमान से भी उनकी मुलाकात करवा चुके हैं। उनकी हर मांग मानने पर रजामंदी दी जा चुकी है लेकिन अल्पेश का फैसला क्या होगा ये वही जानते हैं। उनके कांग्रेस में रहने या फिर जाने पर छाई धुंध आज छट सकती है। 


दूसरी तरफ बीजेपी कांग्रेस के तमाम विधायकों को पार्टी में शामिल होने का खुल्लखुल्ला ऑफर दे रही है। गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद से कांग्रेस के 4 विधायक बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। बीजेपी का मकसद इस बार भी सूबे की सभी 26 लोकसभा सीटों पर कब्जा जमाना है। ऐसे में पार्टी कांग्रेस में सेंधमारी में जुटी है।