ट्रेन 18 के बाद अब भारत में चलेगी मैग्लेव ट्रेन! वैज्ञानिकों ने इजाद किया मॉडल
ट्रेन 18 के बाद अब भारत में चलेगी मैग्लेव ट्रेन! वैज्ञानिकों ने इजाद किया मॉडल

 

भारत में 800 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली मैग्लेव ट्रेन का मॉडल तैयार किया गया है। फिलहाल मैग्लेव ट्रेन जापान और चीन में चलती है। इसे मध्य प्रदेश स्थित इंदौर के राजा रामान्ना प्रगत प्रौद्योगिक केंद्र द्वारा बनाया गया है।


आरआरसीएटी के वैज्ञानिक आरएन शिंदे ने 50 लोगों की टीम के साथ इस मॉडल को तैयार किया गया है। यह मॉडल करीब 10 साल में तैयार हो पाया है जिसमें ट्रेन मैग्नेटिक फील्ड की सतह पर चलती दिखी। मैग्नेटिक टेक्नॉलजी डिविजन के हेड शिंदे ने कहा कि भारत 800 किलोमीर प्रति घंटे की रफ्तार वाली मैग्लेव ट्रेन बना सकता है।

 

अभी तक चीन और जापान को छोड़कर किसी के पास यह तकनीक नहीं है। अमेरिका में भी ऐसी कोई तकनीक नहीं है। हालांकि इस मॉडल के भारत में विकसित होने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि भारत इस तकनीक के काफी करीब हैRRCAT के वैज्ञानिक आरएन शिंदे ने 50 लोगों की टीम के साथ इस मॉडल को तैयार किया गया है. यह मॉडल करीब 10 साल में तैयार हो पाया है जिसमें ट्रेन मैग्नेटिक फील्ड की सतह पर चलती दिखी. RRCAT में मैग्नेटिक टेक्नॉलजी डिविजन के हेड शिंदे ने कहा कि भारत 800 किलोमीर प्रति घंटे की रफ्तार वाली मैग्लेव ट्रेन बना सकता है