इस्कॉन टेंपल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया 800 किलो की गीता का अनावरण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगवार को स्कॉन मंदिर में एक विशाल भगवत गीता का अनावरण किया। इस्कॉन टेंपल के अनुसार आकार में यह दुनिया सबसे बड़ा धार्मिक ग्रंथ है जिसका वजन 800 किलो है।


  


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 670 पेज वाली एक विशाल भगवत गीता का अनावरण किया है जिसका वजन 800 किलोग्राम है। मंगलवार 26 फरवरी को इस्कॉन मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। यह अनूठी भगवत गीता 2.8 मीटर बाय 2 मीटर आकार की है। इस्कॉन के अनुसार यह दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक ग्रंथ है। भगवत गीता के अनावरण के बाद पीएम मोदी ने यहां कार्यक्रम को संबोधित भी किया।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां गीता के महत्व पर बोले और उन्होंने कहा कि अमीर हो या गरीब दुनिया भर में लोग गीता को अपने घर पर रखते हैं। इस ग्रंथ में जीवन के कई सबकों के बारे में बताया गया है। पीओके के अंदर आतंकी कैंपों पर हवाई हमले के बाद कार्यक्रम में शामिल हुए पीएम मोदी ने कहा, 'मानवता के दुश्मनों से धरती को बचाने के लिए प्रभु की शक्ति हमेशा हमारे साथ रहती है। यही संदेश हम पूरी प्रमाणिकता के साथ दुष्ट आत्माओं और असुरों को देने का प्रयास कर रहे हैं।


  इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्णा कॉन्सियसनेस (ISKCON) को 'हरे कृष्णा' आंदोलन के लिए भी जाना जाता है। इस संस्था के दुनिया भर में 400 से ज्यादा मंदिर हैं साथ ही 100 से ज्यादा शाकाहारी रेस्टोरेंट और समाज सेवी प्रोजेक्ट भी चलाती है।