अफगानिस्‍तान ने भारत को सामान भेजने के लिए अपनाया नया रूट

पाकिस्‍तान को लगा झटका, अफगानिस्‍तान ने भारत को सामान भेजने के लिए अपनाया नया रूट


अफगानिस्तान ने पाकिस्‍तान को दरकिनार करते हुए ईरान के चारबहार पोर्ट से पहली बार 570 टन सामान भारत में भेजा है.



  पाकिस्‍तान को एक के बाद एक पड़ोसी देशों से झटके मिल रहे हैं. अफगानिस्‍तान ने पाकिस्‍तान को झटका देते हुए भारत के साथ व्‍यापार का नया रास्‍ता निकाल लिया है. अफगानिस्‍तान को भारत के साथ व्‍यापार करने में अब पाकिस्‍तान के रूट की जरूरत नहीं होगी. अफगानिस्तान ने पाकिस्‍तान को दरकिनार करते हुए ईरान के चारबहार पोर्ट से पहली बार 570 टन सामान भारत में भेजा है. ईरान के रास्‍ते भेजा गया सामान अगले कुछ दिनों में भारत पहुंच जाएगा. रविवार को अफगानिस्‍तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने निमरोज प्रांत के जारांज शहर से 23 ट्रकों का काफिला रवाना किया है.

अफगानिस्‍तान से भारत को 570 टन का सामान भारत में भेजा गया है. अफगानिस्‍तान से जो माल भारत को भेजा गया है उसमें कालीन, सूखे मेवे और कपास शामिल हैं. अफगानिस्‍तान के रास्‍ते भारत भेजे जाने वाले सामान को लेकर पाकिस्‍तान हमेशा से दादागिरी दिखाता रहा है. पाकिस्‍तान जान-बूझकर भारत के सामान को नुकसान पहुंचाने के लिए अड़चन पैदा करता है. पिछले साल पाकिस्‍तान ने अफगानिस्‍तान ट्रकों को रोक दिया था, जिसके बाद भारत ने अफगानिस्तानी प्रोडक्ट को हवाई रूट से मंगाया था.


अभी तक अफगानिस्‍तान से आने वाले उत्‍पादों को पाकिस्‍तान के रास्‍ते पंजाब के अटारी बॉर्डर लाया जाता था, उसके बाद वहां से भारत में भेजा जाता था. हालांकि हर बार भारत को समान भेजने के लिए अफगानिस्‍तान को पाकिस्‍तान से इजाजत लेनी होती थी. पाकिस्तान अफगानिस्तान ट्रकों को सीधे भारत न भेजकर अपने ट्रकों में भरता था, उसके बाद ही भारत में उसे भेजा जाता था. पाकिस्तान इसके पीछे सुरक्षा कारणों को वजह बताता था.